Skip to content
Home » Bihar board intar exam :-इलेक्ट्रॉनिक अर्धचालक युक्तियां लॉजिक गेट फिजिक्स का 2023

Bihar board intar exam :-इलेक्ट्रॉनिक अर्धचालक युक्तियां लॉजिक गेट फिजिक्स का 2023

 Bihar board intar exam

Bihar Board Class 12th Ka Physics 2023

 

Bihar board intar exam

Bihar board intar exam

 

12th Board Physics  & Subjective Question on Latest Pattern 2023 Exam Question Answer VVI Important  prashn

 

vvi Sejective Question इलेक्ट्रॉनिक: अर्धचालक युक्तियां :लॉजिक गेट

 

  [1] चालक पदार्थ किसे कहते हैं!

 

Ans= वैसा पदार्थ जिसमें इलेक्ट्रॉन मुख्य अवस्था में गति शील होता है उसे चालक पदार्थ कहते हैं

 

नोट: धातु

 

 [2] आचालक पदार्थ किसे कहते हैं ।

 

Ans= वैसा पदार्थ जिसमें इलेक्ट्रॉन मुख्य अवस्था में गतिशील नहीं होता उसे आचालक पदार्थ कहते हैं 

 

नोट: कांच, तथा मोम

 

 [3] अर्धचालक पदार्थ किसे कहा जाता है !

 

Ans= चालक और अचालक पदार्थों के आंतरिक कुछ पदार्थ ऐसे भी होती है जिस की प्रतिरोधकता चालक और आचालक पदार्थ की  प्रतिरोधक के बीच में होती है उसे अर्धचालक कहते हैं । 

बिहार बोर्ड क्लास 12th का मोस्ट vvi सब्जेक्टि प्रश्न 

Bihar board intar exam

 [4] मुक्त इलेक्ट्रॉन किसे कहते हैं!

 

Ans= वैसा इलेक्ट्रॉन जो संपूर्ण पदार्थों में एक स्थान से दूसरे स्थान तक घूमने के लिए स्वतंत्र होती है तथा विशेष नाभिक में संबंधित नहीं होती है उसे मुक्त इलेक्ट्रॉन कहते हैं।

अर्थात : 

 

 संयोजीक इलेक्ट्रॉन अथवा चालक इलेक्ट्रॉन कहा जाता है।

 

 [5] अर्धचालक कितने प्रकार के होती है !

 

Ans= अर्धचालक दो प्रकार की होती है!

 

 1. नैज अर्धचालक

 2. बाह अर्धचालक

 

 [6]  P-n  जंक्शन किसे कहते हैं!

 

Ans= यदि किसी विशेष विधि द्वारा किसी आ अर्धचालक के टुकड़े के एक भाग के p type तथा दूसरे भाग को n-type बना दिया जाए तो इन दोनों भागों अलग करने वाली सतह को P-n जैकसन कहते हैं।

 

Class 12 th ka Physics Subjective Question

 

 [7] विभव प्राचीन किसे कहते हैं!

 

Ans=  p  जंक्शन से  p भाग से इलेक्ट्रॉन का हास तथा n भाग इलेक्ट्रॉन के वृद्धि के कारण जंक्शन के आर पार  विवातर उत्पन्न हो जाता है उसे विभव प्राचीन कहते हैं।

 

 [8] p-n जंक्शन डायोड के दृष्टि कारी गुण बताएं।

 

Ans=  यदि किसी सीरे के बीच किसी बैटरी से विद्युत वाहक बल आरोपित किया जा तो जंक्शन के पार करके एक दिशा में धारा का  परवाह आसानी से होता है ।

परंतु विपरीत दिशा में धारा का परवाह बहुत कठिन से होता है। इसी गुण को पी इन जंक्शन को दिष्टकारी गुण कहते हैं। 

 [9] जेनरल डायोड किसे कहते है

 

Ans=  वैसा यंत्र जिससेp-n संधि डायोड होते हैं जो बिना खराब हुए उत्कम भजन वोल्टेज पर नियंत्रित काज कर सकते हैं उसे जेनर डायोड कहते हैं

 

इसी तरह का Physics सब्जेक्टिव सब्जेक्टिव प्रश्न पाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

          Bihar board intar exam

 [10] सौर सेल का वर्णन करें!

 

Ans=  वैसा  जंक्शन डायोड  जिसमें सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में रूपांतरित किया जाता है उसे सौर सेल कहते हैं।

 

अर्थात।

: यह प्रकाश विद्युत प्रभाव के सिद्धांत पर आधारित रहता हैं।

यहां भी देखें।

: डायोड के दोनों में से एक भाग को काफी पतला बनाया जाता है   

जिससे आदित सर सौर विकिरण का अवशोषण नहीं बराबर होता है। सर प्रकाश ऊपरी सतह से कुछ नहीं कुछ ही नीचे के दूरी पर जहां पटना जंक्शन रहती है ।

यह भी पढ़ें:

वहां प्रकाश अवशोषित होती है जंक्शन के दोनों सतह पर विपरीत आवेश उत्पन्न होता है। और उन सतहो के बीच विद्युत वाहक बल स्थापित हो जाता है जिसमें विद्युत उत्पन्न होती है।

 

 [11] LED का उपयोग बताएं!

 

Ans=   LED का उपयोग निम्नलिखित भागों में बांटा गया है

 

 1. इसमें उर्जा का खपत बहुत कम होती है

 

 2. इसकी आयु अधिक होती है

 

 3. यह बहुत ही मजबूती से बने होते हैं

 

 4. एलईडी बल्ब अधिक उजाला देती है

 

 5. इसमें फिलामेंट नहीं होते हैं

 

WhatsApp group join

 [12]  दियुआधारित पदति किसे कहते हैं !

 

Ans= वैसा पदति जिसका आधार दो होता है उसे ड्यू आधारित पदति कहते हैंl

 

 [13] बीट किया है!

 

 Ans=  प्रत्येक आधारित अंग को बीट कहते हैं

 

 [14] वाइट किसे कहते हैं!

 

Ans= आठ बिटो के समूह को वाइट कहते हैं 

 

नोट:  1001001

 

 [15] एनालॉक सिगनल किसे कहते हैं!

 

Ans=  जी सिग्नल में धारा या वोल्ट वोल्टेज का समय के साथ परिवर्तन होता है उसे एनालॉक कहते हैं

Teligarm joined

 [16] डिजिटल सिग्नल किसे कहते हैं|

 

Ana=  वैसा सिग्नल जिसका रूप विभिन्न सपदों  जैसा होता है उसे डिजिटल सिग्नल कहते हैं

और क्वेश्चन ans देखने के लिए नीचे स्क्रॉल करें

 [17] लॉजिक गेट किसे कहते हैं .

 

Ans= वैसा परिपथ जिसके द्वारा किसी शर्त का सही या गलत होने का आंकलन कर सकते हैं उसे लॉजिक गेट कहते हैं

 

. यह  पांच प्रकार के होती हैl

 

1.AND

2.OR

3.NOT

4.NAND

5.NOR

 

[18] एकीकृत परिपथ किसे कहते हैं इसका विशेषता बताए |

 

Ans=  एक छोटे ब्लॉक या चिप के ऊपर बना संपूर्ण परिपाठ जिसमें आवश्यक घटक जैसे r,c आदि तथा सक्रिय युक्ति पाई जाती है उसे की एकीकृत परिपथ कहते हैं

 

[19] पदार्थों में ऊर्जा पटिया= सिद्धांत के अनुसार

परमाणु के कक्षीय इलेक्ट्रॉन केवल कुछ विशेष ऊर्जा वाले विविक्त तालों में ही रह सकते हैं परमाणु में इलेक्ट्रॉन को केवल कुछ सुनिश्चित ऊर्जा ही मान ले सकते हैं 

vvi physics long

जबकि एक दूसरे को अपने विद्युत क्षेत्र द्वारा प्रभावित करने वाले परमाणु में अच्छे लोग दोनों के लिए काफी अधिक ऊर्जा ताल उपलब्ध होते हैं।

इस प्रकार के परस्पर प्रभावित परमाणु और मैं एक दूसरे के बहुत समीप वाले उर्जा तालोंका समूह प्राप्त होता है जिसे ऊर्जा पार्टी कहा जाता है

vvi ऑब्जेक्टिव देखने के लिए नीचे देखें।

[20] अर्धचालक की चालकता तथा प्रतिरोधकता (Conductivity and Resistivity go a Semiconductor)

 

अर्धचालक में विद्युत धारा का प्रभाव इलेक्ट्रॉन तथा हेलो दोनों की गति के कारण होता है। आज चालक के 1 ब्लॉक की कल्पना करें।

जिसकी लंबाई Lअनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल A है तथा इसके सिरों के बीच विभांतर भी v लगाया गया है।

 

इलेक्ट्रॉन तथा हेल दोनों की गति प्रसार पर विपरीत दिशाओं में होती है। सुखी धारा की दिशा धन आवेश की गति परस्पर पर विपरीत दिशा में होती है

चुकी धारा की दिशा धन आवेश की गति की दिशा में माननीय की परिपाटी है

आत: कार चालक में धारा की दिशा होल की गति की दिशा में तथा इलेक्ट्रॉन की गति की दिशा के विपरीत होगी। यदि इलेक्ट्रॉन की गति के कारण उत्पन्न धारा आई यू तथा होल की गति के कारण उत्पन्न धारा आईएएच हो ।

 

[21] जेनर डायोड क्या है। (Zener Diode)

धारा  मैं सामान P_n संधि डायोड अगृ अभिनति तथा उत्कर्ष अभिनति में अभिलाक्षणिक वक्त वको की विवेचना कर चुके हैं।

उत्कार में अभिनति में वोल्टेज के काफी बड़े मान तथा धारा अत्यंत क्षिण  होती है। तथा लगभग स्थिर रहती है जब वोल्टेज को एक निश्चित सीमा से अधिक वर्ड होते हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यहां क्लिक करें।